Breaking News

महोबा: ‘‘वृक्ष लगाकर जीवन को सुरक्षित बनायें’’-सचिव एवं आयुक्त, ग्राम्य विकास विभाग

University Times/Mahoba

रिपोर्ट- प्रियंका त्रिपाठी

प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश को जो हरा भरा करने का संकल्प लिया है वो आज साकार हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि भारत छोड़ो आन्दोलन की 77 वीं वर्षगांठ के अवसर पर प्रदेश में जो वृक्षारोपण कराया जा रहा है उससे निश्चित ही प्रदेश वासी लाभान्वित होगें।इसी परिप्रेक्ष्य में सरकार द्वारा वृक्षारोपण हेतु जनपद को आवंटित 14.66 लाख पौधो के लक्ष्य के अनुरूप जनपद में ग्राम पंचायत से लेकर विकास खण्ड, तहसील, विद्यालयों, काॅलेजों, पुलिस लाइन, कलेक्ट्रेट, विकास भवन एवं सभी वन क्षेत्रों में आज वृृहत वृृक्षारोपण किया गया। वृृक्षारोपण कार्यक्रम की शुरूआत महोबा शहर के भटीपुरा वन क्षेत्र में स्थापित किये जाने वाले ‘‘गांधी उपवन‘‘ में सांसद हमीरपुर-महोबा-तिंदवारी पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल, विधायक सदर राकेश गोेस्वामी, सचिव एवं आयुक्त ग्राम्य विकास विभाग के0 रविन्द्र नायक, जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी, अध्यक्ष नगर पालिका महोबा दिलाशा, सौरभ तिवारी, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि रमेश यादव एवं मुख्य विकास अधिकारी हीरा सिंह आदि गणमान्यों द्वारा गांधी के प्रिय प्रजातियों के पौधे आम, नीम, कल्पवृृक्ष, साल, महुआ, सहजन एवं मौलश्री आदि पौधे रोपित कर की गयी।

इस अवसर पर प्रदेश के सचिव, एवं आयुक्त ग्राम्य विकास विभाग ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जो पूरे प्रदेश को हराभरा बनाने का संकल्प लिया है उस संकल्प को जनपद में शत-प्रतिशत वृक्षारोपण कराकर पूरा करें और उनकी उचित देखभाल भी करें।आयुक्त एवं सचिव ने कहा कि वृहद वृक्षारोपण से ही पर्यावरण में आ रही गिरावट को रोका जा सकेगा और जन-जन को स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। वृक्ष हमारे लिए कई प्रकार से लाभदायक होते हैं इनकी पत्तियों, छालों एवं जड़ों से हम विभिन्न प्रकार की औषधियां बनाते हैं। प्राचीन काल से ही वन मनुष्य के जीवन में विशेष महत्व रखते आ रहे हैं। यह मानव जीवन के लिए प्रकृति के अनुपम उपहार हैं। हमारे वन पेड़-पौधे ही नहीं अपितु अनेकों उपयोगी जीव-जंतुओं व औषधियों का भंडार हैं। इससे गिर रहे जलस्तर को भी रोका जा सकेगा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी ने सचिव महोदय को अवगत कराया कि वृक्षारोपण महाकुम्भ के अन्तर्गत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयन्ती की 150 वीं एवं भारत छोड़ो आन्दोलन की 77 वीं वर्षगांठ के अवसर पर भटीपुरा के वन क्षेत्र में 6500 पौधे रोपित कर गांधी उपवन की स्थापना कराई जा रही है, गांधी उपवन में एक पंचवटी का निर्माण किया जायेगा जिसमें 5 प्रजातियों के वृक्ष पीपल, बरगद, बेल, आवंला एवं अशोक का रोपण किया जायेगा। इसमें गांधी जी के पसन्द के वृक्ष साल, पीपल, बरगद, सहजन, मौलश्री, आम, नीम आदि के वृक्ष लगाये जा रहे हैं। जनपद में कुल 14 लाख 66 हजार पौधे लगाया जाना है जो विभिन्न विभागों को लक्ष्य आवटिंत कर आज वृक्षारोपण कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने सभी विभागों के जिलास्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस वृक्षारोपण के महाकुम्भ के दौरान जितने भी वृक्ष लगाये गयें हैं उनकी बेहतर ढंग से देखभाल करके बड़ा किया जाए। उन्होने जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि वे भी अपने यंहा लगाये गये पौधों की देखभाल करें ताकि वे बड़ा होकर धरा के भूषण बन सके।

इस अवसर पर सांसद एवं विधायक ने अपने सम्बोधन में कहा कि वन पृथ्वी पर जीवन के लिए अनिवार्य तत्व हैं यह प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने में पूर्णतया सहायक होते हैं। उन्होने कहा कि हर कोई जानता है कि पेड़ ऑक्सीजन का स्रोत हैं। वे कार्बन डाइऑक्साइड लेते हैं और ऑक्सीजन छोड़ते हैं कार्बन डाइऑक्साइड लेने के अलावा पेड़ सल्फर डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड सहित कई हानिकारक गैसों को भी अवशोषित करते हैं और वातावरण से हानिकारक प्रदूषकों को फिल्टर करते हैं जिससे हमें ताजा और साफ-सुथरी हवा सांस लेने के लिए मिलती है।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि वृक्षा धरा के भूषण है इनसे अनेक प्रकार की सुविधाएं मिलती है तथा जल संचयन में भी सहायक होते हैं। उन्होने जनपदवासियों से अपील की, कि अपने-अपने घर पर एक वृक्ष अवश्य लगायें तथा उनकी देखभाल भी करें।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close