Breaking News

कन्या सुमंगला योजना बेटियों के लिए वरदान, जानिये इस योजना के बारे में

University Times/Mahoba

रिपोर्ट- प्रियंका त्रिपाठी

जिलाधिकारी महोबा अवधेश तिवारी ने बताया है कि प्रदेश सरकार “कन्या सुमंगला योजना” के तहत बेटी के जन्म से लेकर स्नातक की पढ़ाई तक छः चरणों में 15 हजार रुपये की धनराशि देगी।इस योजना का लाभ लेने के लिए वर्तमान में आफलाइन आवेदन करना होगा।जल्द ही यह प्रक्रिया ऑनलाइन हो जाएगी। यह योजना कन्या भ्रूण हत्या रोकने, समान लैंगिक अनुपात करने तथा बाल बिवाह को रोकने के साथ-साथ बालिका को स्वावलम्बी बनाने और शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने में यह योजना अत्यन्त कारगर साबित होगी।

जिलाधिकारी ने यह भी बताया है, कि महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए उ0प्र0 सरकार द्वारा 01 अप्रैल 2019 से कन्या सुमंगला योजना की शुरूआत की गई है। इस योजना में बेटी के जन्म से उसकी परवरिश और शिक्षा ग्रहण करने तक का खर्चा सरकार उठाएगी। सरकार निर्धारित धनराशि के रूप में बेटी के नाम से छः चरणों में एक मुश्त उपलब्ध कराएगी। इस योजना के तहत एक ही परिवार की अधिकतम दो बेटियों के जन्म पर ही लाभ मिल सकेगा। समाज में भ्रूण हत्या को खत्म करने के साथ ही बेटियों को अच्छी शिक्षा व स्वास्थ्य देने में यह योजना वरदान साबित होगी। योजना का लाभ एक अप्रैल 2019 से जन्मी एवं एक वर्ष तक पूर्ण टीकाकरण कराने वाली बेटियों तथा कक्षा-1,कक्षा-६,कक्षा-9 तथा स्नातक में प्रवेश करने वाली सभी कन्याओं को मिलेगा।

योजना की पात्रता के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि लाभ लेने के लिए स्थायी निवास प्रमाणपत्र के साथ आधार के रूप में एक आईडी देनी होगी। लाभार्थी की वार्षिक आय तीन लाख रूपए तक होनी चाहिए। दो बच्चों से अधिक होने पर इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।खास बात यह है कि किसी महिला के दूसरे प्रसव से जुड़वा बच्चे होने पर तीसरे संतान के रूप में लड़की को भी लाभ मिल सकेगा। यही नहीं अगर पहले प्रसव से बालिका है तो दूसरे प्रसव से दो जुड़वा बेटियों के जन्म पर तीनों को लाभ दिए जाने का प्रावधान किया गया है।उन्होंने बताया कि पहले चरण जन्म पर दो हजार, दूसरे चरण एक वर्ष तक पूर्ण टीकाकरण पर एक हजार, तीसरे चरण में कक्षा एक में प्रवेश पर दो हजार, चौथे चरण मे कक्षा छः में बालिका के प्रवेश पर दो हजार, पांचवे चरण में कक्षा नौ में प्रवेश के बाद तीन हजार तथा छठें और अन्तिम चरण में 12वीं उत्तीर्ण करने एवं स्नातक व दो वर्षीय डिप्लोमा में प्रवेश करने पर पांच हजार रूपए की धनराशि मिलेगी। ये भी बताया कि लाभार्थी को धनराशि सीधे उनके खातों में आनलाइन भेजी जाएगी।फिलहाल लाभ लेने के लिए बेटियों के अविभावकों को ऑफ़लाइन आवेदन शहरी क्षेत्र में सम्बन्धित तहसील,ग्रामीण क्षेत्र में सम्बन्धित विकासखण्ड एवं जिला प्रोबेशन कार्यालय में जमा करना होगा।आवेदन पत्र का प्रारूप उक्त सभी स्थानों से प्राप्त किया जा सकता है।

जिलाधिकारी ने सभी जनपदवासियों से अपील की है,कि सभी लोग अपनी-अपनी पात्र कन्याओं को इस योजना का लाभ जरूर दिलाएं।यह प्रदेश सरकार की योजना बेटियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।डीएम ने इस हेतु डीपीओ सुधीर त्यागी को निर्देशित करते हुए कहा है कि जनपद के सभी बालिका विद्यालयों एवं विकासखण्ड स्तर पर अतिशीघ्र कैम्प लगवाकर जनपद की अधिक से अधिक बेटियों को इस योजना से आच्छादित किया जाये।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close